narangi khane ke fayde aur nuksan

संतरा खाने के फायदे और नुकसान

संतरा खाने के फायदे और नुकसान

narangi khane ke fayde aur nuksan
santra khane ke fayde aur nuksan

आम लोगों में संतरा एक बहुत ही प्रसिद्ध फल है,जिसे हर कोई खाना चाहता है। संतरा विटामिन और खनिज तत्वों से भरपूर होता है। यदि आप संतरे का सेवन करते हैं,तो आपके शरीर की प्रतिरक्षा प्रणाली अत्यधिक मजबूत हो जाती है।

जिससे कि आप बीमारियों से कोसों दूर रहते हैं। यह फल बहुत ही आसानी से उपलब्ध हो जाता है। इसे छीलकर भी खाया जाता है तथा कुछ लोग इसे जूस बनाकर भी इसका सेवन करते हैं।

इसे भी पढे़ चावल खाने के फायदे और नुकसान

संतरा हमारे पूरे शरीर के लिए ही लाभदायक है। इसलिए आप जिस भी रूप में संतरे को खाएं यह आपको फायदा ही पहुंचाएगा। संतरा वैसे तो हम सभी खाते हैं।

लेकिन हममें से बहुत ही कम लोग जानते हैं कि संतरा खाने से क्या होता है? संतरे के जूस के फायदे क्या है? संतरे के छिलके के फायदे क्या हैं? और भी कई तरह से यह हमें फायदा पहुंचाता है। जिनके बारे में आज हम यहां पर बताएंगे।

संतरा विटामिन C का एक बहुत ही अच्छा स्त्रोत है। इस कारण जिन लोगों को ज्यादातर सर्दी,कफ,खांसी की बीमारी होती रहती है,उन्हें संतरे का सेवन अवश्य करना चाहिए।

संतरे का उपयोग ब्लड प्रेशर नियंत्रित करने में-

जिन लोगों को ब्लड प्रेशर की शिकायत रहती है उन्हें संतरे का उपयोग अवश्य करना चाहिए। क्योंकि उसमें उपस्थित मैग्नीशियम ब्लड प्रेशर को नियंत्रित करने में सहायता करता है।

संतरे का उपयोग शरीर में कैंसर के लिए-

कैंसर के लिए जो सेल्स जिम्मेदार होती है उन्हे बढ़ने से रोकता है और यदि आप इसका नियमित सेवन करते हैं,तो स्तन कैंसर होने की संभावना भी काफी हद तक कम हो जाती है।

दिल की बीमारी दुर करे संतरा –

विटामिन और फाइबर से भरपूर होता है संतरा । इसलिए जिन लोगों को दिल से संबंधित बीमारियां होती है उन्हें में संतरे का सेवन अवश्य करना चाहिए इससे उनका दिल स्वस्थ रहता है।

खाए संतरा कब्ज दूर भगाएं-

narangi khane ke fayde aur nuksan hindi me
narangi khane ke fayde aur nuksan hindi me

आजकल 100 में से 90 लोगों को कब्ज की शिकायत रहती है क्योंकि उनका जो खानपान है,वह बिल्कुल बिगड़ गया है ना तो खाने का समय,न पीने का समय,ना उठने का समय उन्होंने निर्धारित किया है। इस बेकार दिनचर्या में इस कारण ज्यादातर लोगों का पेट खराब रहने लगा है और उन्हें कब्ज की समस्या रहती है।

इसे भी पढे़- टमाटर खाने के फायदे और नुकसान

यदि आप इस समस्या से परेशान है तो आप संतरे का नियमित सेवन करें। क्योंकि संतरा फाइबर से भरपूर होता है। यदि आप भी संतरे का सेवन करते हैं तो जल्दी ही आपकी कब्ज की समस्या जड़ से दूर हो जाएगी।

संतरा खाए आंखों की रोशनी बढ़ाए-

संतरा विटामिन सी का भंडार है इसलिए यदि आप इसका नियमित सेवन करते हैं तो यह आपकी आंखों की ज्योति को बढ़ाता है। आंखों के रोग जैसे कि रतौंधी में भी यह काफी मददगार साबित होता है।

संतरे में कई तरह के विटामिंस,खनिज पदार्थ जैसे कि जिंक,आयरन,मैग्नीशियम आदि प्रचुर मात्रा में होते हैं। जिससे आपका इम्यून सिस्टम मजबूत होता है।

तनाव कम करने के लिए संतरे का उपयोग-

आज के दौर में हर कोई किसी ने किसी बात को लेकर तनाव में रहता है। एक रिसर्च में पाया गया है कि संतरे की सुगंध से तनाव में काफी हद तक राहत मिलती है। इसलिए आप इसका सेवन अवश्य करें।

जोड़ों का दर्द दूर करने में-

संतरे के रस का उपयोग यदि आप बकरी के दूध में मिलाकर करते हैं तो आपको जोड़ों के दर्द की समस्या से निजात दिला सकता है।

बदहजमी और अपच दूर करने में-

यदि आपको भी बदहजमी और अपच की समस्या है तो संतरे के जूस को हल्का सा गुनगुना करके इसमें थोड़ी सी काली मिर्च मिला लें और इसका सेवन करें। कुछ ही दिनों में आपका डाइजेशन सिस्टम बहुत ही अच्छा हो जाएगा।

पथरी की समस्या को दूर करने के लिए-

पथरी को दुर करने में संतरे का उपयोग बहुत ही अच्छा माना जाता है। यदि आपको पहले से ही पथरी है तो संतरे का सेवन करने से यह ज्यादा नहीं बढ़ेगी और यदि पथरी नहीं है तो आगे भविष्य में भी नहीं होगी।

पाइल्स की समस्या में-

पाइल्स में संतरे का उपयोग बहुत ही अच्छा माना जाता है पाइल्स को दूर करने के लिए संतरे के छिलकों को सुखाकर इन का चूर्ण बना लें। गर्म पानी के साथ कुछ मात्रा में मिलाकर इसका रोज सेवन करें।

अल्सर ठीक करने में-

संतरे में अत्यधिक मात्रा में फाइबर पाया जाता है जिस कारण यह सभी तरह के अल्सर को ठीक करने की क्षमता रखता है।

संतरे का उपयोग त्वचा के लिए-

संतरा त्वचा को सुंदर बनाता है यदि आप संतरे के छिलकों का चूर्ण बनाकर शरीर पर लगाते हैं तो इससे आपकी त्वचा में निखार आता है। संतरा एंटीऑक्सीडेंट से भरपुर होता है

यह सूरज से निकलने वाली हानिकारक अल्ट्रावायलेट किरणों से हमारी त्वचा की रक्षा करता है। संतरे का जूस उपयोग करने से कील मुहांसों और झाइयों को भी दूर करने में मदद करता है।

संतरे के नुकसान

जैसा कि हम सभी जानते हैं कि हर चीज के फायदे के साथ-साथ कुछ नुकसान भी होते हैं।
1. जिन लोगों को डायबिटीज की शिकायत है उन लोगों को संतरे का उपयोग नहीं करना चाहिए,क्योंकि संतरे में प्राकृतिक शर्करा पाई जाती है। जो कि हमारे शरीर का वजन बढ़ाने के लिए जिम्मेदार होती है।

2. जो लोग अपना वजन कम करना चाहते हैं उन्हें भी संतरे का अधिक मात्रा में सेवन नहीं करना चाहिए,क्योंकि संतरा कार्बोहाइड्रेट से भरपूर होता है। जो कि वजन बढ़ाने का कारण हो सकता है।

3. जिन लोगों के शरीर की प्रकृति अम्लीय होती है। उन्हें संतरे का उपयोग कम करना चाहिए, क्योंकि इससे शरीर की अम्लीयता का बढ़ सकती है।

4. संतरे का जूस ऐसीटिक प्रकृति का होता है इसलिए यह हमारे दांतों के इनेमल को हानि पहुंचा सकता है। अतः इसका उपयोग सीमित मात्रा में ही करें।

संतरा खाने का सबसे अच्छा समय-

वैसे तो फलों को खाने के लिए कोई समय निर्धारित नहीं होता जब भी आपकी इच्छा करें आप इन्हें खा सकते हैं लेकिन फिर भी यदि आप इन्हें समय से खाते हैं तो यह आपको और अधिक फायदा पहुंचाएंगे। जैसे कि आपको संतरे का सेवन प्रातःकाल और दोपहर के समय करना चाहिए

आप यदि जूस का सेवन कर रहे हैं। तो प्रातःकाल करें, क्योंकि रात के समय संतरे के सेवन करने पर इसे पचने में देर लगती है।

आपको व्यायाम (excercise) करने का शौक है, तो व्यायाम करने के बाद आप संतरे का सेवन कर सकते हैं। इससे व्यायाम से हुई थकान दूर होने में मदद मिलती है।

आपको हमारा यह लेख पसंद आता है तो हमें कमेंट (comment) करके जरूर बताइए और अपने दोस्तों के साथ भी इसे शेयर(share) करिए ताकि हम इस तरह की रोचक जानकारियां भविष्य में भी आपके लिए लाते रहे।
धन्यवाद

अस्वीकरण

दी गई सभी जानकारी केवल पाठकों की जानकारी और ज्ञान के लिए दी गई है। हम क्षेत्र इकाई से अनुरोध करते हैं कि आप किसी भी सिफारिश / संकल्प का प्रयास करने से पहले अपने चिकित्सक से संपर्क करें। इस स्वास्थ्य से जुड़ी इस वेब साइट का उद्देश्य आपको अपने स्वास्थ्य से जुड़ा बनाना है और स्वास्थ्य से जुड़े आंकड़ों की आपूर्ति करना है। आपके डॉक्टर के पास आपके स्वास्थ्य के संबंध में उच्च डेटा है और उनकी सिफारिश का कोई विकल्प नहीं है।

Share post

Leave a Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *