Piliya kya h karan lakshan aur upchar

पीलिया क्या होता है कारण, लक्षण और उपचार

पीलिया रोग वैसे तो बहुत ही सामान्य रोग है, हर कोई इसके बारे में जानता है। जब आपकी त्वचा का रंग और आपकी आंखों का रंग पीला-पीला सा दिखाई देने लगता है तो इस अवस्था को पीलिया के रूप में जाना जाता है। (Piliya kya h karan lakshan aur upchar)

इसे भी पढे – Hair lose ke liye gharelu upay

यह पीला रंग बिलीरुबिन नामक तत्व के कारण होता है। बिलीरुबिन हमारे रक्त में पाया जाने वाला एक पदार्थ होता है। हमारे रक्त में मौजूद लाल रक्त कणिकाओं (RBC) का जीवन चक्र 120 दिनों का होता है

जब उनका जीवन चक्र पूरा होता है तो बिलीरुबिन नामक पदार्थ बनता है। जो कि पीले रंग का होता है, यह बिलीरुबिन हमारे शरीर में खाद्य पदार्थों के अवशोषण और विषाक्त पदार्थों को मल-मूत्र के जरिए बाहर निकालने में मदद करता है।

जब लाल रक्त कोशिकाएं अपने निर्धारित समय 120 दिनों से पहले ही टूटने लगती है तो यह बिलीरुबिन नामक तत्व बनता है। इनका स्तर पहले की अपेक्षा ज्यादा हो जाता है। (Piliya kya h karan lakshan aur upchar)

जिसके कारण हमारा पूरा शरीर पीला सा दिखाई देने लगता है। पीलिया रोग होने के और भी कई कारण हो सकते हैं जैसे- थैलेसीमिया, मलेरिया इन रोगो में भी बिलीरुबिन बहुत अधिक मात्रा में बनता है।

शराब का ज्यादा सेवन करना भी इस बीमारी को बढ़ाता है।

पीलिया के कुछ मुख्य लक्षण- (Piliya kya h karan lakshan aur upchar)

त्वचा, आंखों का सफेद हिस्सा और नाखून पीले हो रहे हैं तो यह इस रोग का लक्षण हो सकता है। पीलिया रोग में लिवर बहुत अधिक प्रभावित होता है।

कई बार बुखार जैसे लक्षण भी देखने को मिलते हैं, व्यक्ति को भुख भी बहुत ही कम लगती है। घबराहट, बेचैनी और मन मिचलाने जैसी समस्याएं होती है। वजन अचानक से कम होने लगता है।

शरीर में थकान सी बनी रहने लगती है। मूत्र का रंग भी बिल्कुल पीला हो जाता है। लेकिन इसका जो मुख्य पहचान का लक्षण है वह आपके शरीर और आंखों का पीला होना ही होता है।

चिकित्सक भी सामान्य रूप से इसे लक्षण को देख कर निर्धारण करता है कि आप को पीलिया हो सकता है।

पीलिया को दूर करने के लिए कुछ खास उपाय-

पीलिया रोग को जोंडिस के नाम से भी जाना जाता है। यह पूरे भारत में पाया जाने वाला बहुत ही सामान्य रोग है। अपने खानपान में स्वच्छता का पूरा ध्यान रखें। पौष्टिक आहार का सेवन करें इसे पीलिया जल्दी ठीक हो जाता है।

इस रोग में आपके लीवर की क्षमता बहुत ही कम हो जाती है। इसलिए तला भुना हुआ भोजन बिल्कुल बंद कर दें। इस जगह हल्का और सुपाच्य भोजन करें।

गन्ने का जूस

Piliya kya h karan lakshan aur upchar

जूस पीना भी पीलिया रोग में बहुत ही लाभदायक माना जाता है।यदि आप इस जूस का उपयोग करते है तो आपको इस रोग में चमत्कारी फायदा देखने को मिलेगा।

कपालभाति प्राणायाम का इस्तेमाल –

पीलिया रोग को दूर करने के लिए आप कपालभाति प्राणायाम का इस्तेमाल भी कर सकते हैं। यह भी इस रोग को दूर करने के लिए बहुत ही अच्छा नुस्खा है। इसमें टाइम जरूर लगता है, लेकिन यह इस रोग को जड़ से ही नष्ट कर देता है।

आंकड़े का प्रयोग –

आंकड़े के पौधे को जड़ से उखाड़ ले और इसे सुखा लें उसके बाद इसका चूर्ण बनाकर सेवन करें। इसे भी आपका रोग जल्दी ठीक होगा।

नारियल पानी और गेहूं के जवारे का रस का सेवन –

दिन में तीन-चार बार नारियल पानी का प्रयोग करें। इससे आपका रोग जल्दी ही दूर हो जाएगा। यदि आपको लग रहा है कि आपका लिवर बहुत ही ज्यादा कमजोर हो गया है, तो गेहूं के जवारे का रस का सेवन करें। इससे आपका लीवर मजबूत हो जाएगा।

पपीता और लौकी का जूस –

पपीता की पत्तियों का जूस निकाल कर पीलिया रोग में पी सकते हैं, यह भी अच्छा उपाय है। लौकी का जूस या सब्जी के रूप में इसका सेवन करें। यह भी पीलिया रोग में लाभदायक होती है।

लहसुन –

Piliya kya h karan lakshan aur upchar

लहसुन के तेल का प्रयोग करेे, यह भी इस रोग में बहुत अच्छा है एक गिलास दूध में 3-4 लहसुन की कलियां मिला लें और इसे रात को सोते समय पीये। ऐसा करने से 5-6 दिन में ही आपका पीलिया जड़ से दूर हो जाएगा।

आप का मुख्य उद्देश्य यही रहना चाहिए कि आप एक स्वस्थ जीवन जीये। अपनी दिनचर्या को बिल्कुल सही रखे। समय पर उठे और पौष्टिक आहार का सेवन करें। बाहर की दूषित चीजों का सेवन ना करें। साफ पानी पिए, प्रतिदिन योगा करें

क्योंकि दोस्तों मेरा यही मानना है कि यदि आप पहले ही अपनी दिनचर्या सही रखते हैं तो आपको रोग होंगे ही क्यों।

कमेंट करके जरूर बताएं कि हमारे द्वारा की गई पीलिया के बारे में जानकारी आपको कैसी लगी। ताकि हम आपको और भी स्वास्थ्य से संबंधित जानकारियां आगे भी देते रहे। यदि आपको हमारे द्वारा दी गई जानकारी अच्छी लगी तो उसे अपने दोस्तों के साथ शेयर करना ना भूले।

अस्वीकरण

दी गई सभी जानकारी केवल पाठकों की जानकारी और ज्ञान के लिए दी गई है। हम क्षेत्र इकाई से अनुरोध करते हैं कि आप किसी भी सिफारिश / संकल्प का प्रयास करने से पहले अपने चिकित्सक से संपर्क करें। इस स्वास्थ्य से जुड़ी इस वेब साइट का उद्देश्य आपको अपने स्वास्थ्य से जुड़ा बनाना है और स्वास्थ्य से जुड़े आंकड़ों की आपूर्ति करना है। आपके डॉक्टर के पास आपके स्वास्थ्य के संबंध में उच्च डेटा है और उनकी सिफारिश का कोई विकल्प नहीं है।

Read also-

Dayriya kya h karan lakshan gharelu upay

Hair lose ke liye gharelu upay

चावल खाने के फायदे और नुकसान

आलू खाने के फायदे और नुकसान

बुखार क्या होता है कारण,लक्षण और घरेलू उपचार

ganna khane ke fayde aur nuksan

संतरा खाने के फायदे और नुकसान

टमाटर खाने के फायदे और नुकसान

Share post

One thought on “Piliya kya h karan lakshan aur upchar

Leave a Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *