Sex in pregnancy is good or bad in hindi

गर्भावस्था में सेक्स करने के फायदे और नुकसान

Sex in pregnancy is good or bad in hindi
Sex in pregnancy is good or bad in hindi

जो लोग भी शादीशुदा है वो सभी इस बात को लेकर बहुत ही परेशान रहतें हे। वह इस प्रश्न का जवाब अक्सर ढूंढते ही रहते हैं, क्योंकि गर्भावस्था का समय हर शादीशुदा जोड़े के जीवन में आता ही है। उस समय उन्हें इस बात का जवाब नहीं मिल पाता कि क्या वह प्रेग्नेंसी के समय भी सेक्स कर सकते है। (Sex in pregnancy is good or bad in hindi)

इसे भी पढे –is sex safe during pregnancy

यदि वह इस समय सेक्स या संभोग करेंगे तो क्या यह सुरक्षित है। इससे बच्चे को किसी तरह का नुकसान तो नहीं पहुंचेगा। इससे प्रेगनेंसी में किसी तरह की समस्या उत्पन्न तो नहीं हो जाएगी। इस तरह के सवाल व्यक्ति के मन में घूमते रहते हैं वह इन प्रश्नो का उत्तर पाने के लिए हर संभव कोशिश करता हे।

इसे भी पढेHeight badane ke tarike hindi me

लेकिन उसको इनका सही उत्तर नहीं मिल पाता। आज हम इस लेख के माध्यम से आपको गर्भावस्था यानी की प्रेग्नेन्सी के समय शारिरीक संबध बनाने से जुडी हर जरूरी बात बताने की पुरी कोशिश करेगे। हमारा प्रयास हमेशा से यही रहा हे कि हम आम जन की भरपुर सेवा कर सके।(Sex in pregnancy is good or bad in hindi)

इसे भी पढे – Pragnency ke liye jruri tips

प्रेग्नेन्सी के दौरान सेक्स या शारिरीक संबध बनाना कितना फायदेमंद है और कितना नुकसानदायक है, इस बारे में बताएंगे। तो चलिए जान लेते हैं कि गर्भावस्था में सेक्स करने के फायदे और नुकसान के बारे में

प्रेग्नेंसी में सेक्स करने के फायदे और नुकसान

Sex in pregnancy is good or bad in hindi
Sex in pregnancy is
good or bad in hindi

गर्भावस्था के समय यदि आप सेक्स करते हैं तो यह गर्भस्थ शिशु की मां और शिशु दोनों के लिए ही लाभदायक होता है बस आपको थोड़ी सी सावधानी रखनी है। (Sex in pregnancy is good or bad in hindi) जो की बहुत समान्य हे यदि आप यह सावधाानी रख लेते हैं तो आपको किसी भी तरह की समस्या का सामना नहीं करना पड़ेगा।

इसे भी पढे – Hair lose ke liye gharelu upay

गर्भावस्था के समय यदि आप संबंध बनाते हैं तो इससे गर्भस्थ शिशु और उसकी मां दोनों का ही ब्लड प्रेशर यानी की रक्तचाप सामान्य रहता है। क्योंकि ज्यादा ब्लड प्रेशर बहुत ही हानिकारक होता है।

कुछ शोधकर्ता ऐसा भी मानते है कि गर्भावस्था के समय आप जो दर्द महसूस करते हैं। इससे प्रसव पीड़ा के समय आपको दर्द सहने में काफी मदद मिलती है। इससे आपकी दर्द सहन करने की शक्ति बढ़ जाती है।

शारिरीक संबध से प्रेगनेन्सी में रहे फिट

प्रेगनेंसी में सेक्स करने से आपका शरीर फिट रहता है क्योंकि इस दौरान आपकी जो मेहनत होती है उससे आप कैलोरी बर्न करते हैं। गर्भावस्था के समय यदि आप सेक्स करते हैं तो इसकी वजह से प्रसव के बाद आप जल्दी रिकवर हो जाती है। प्रेगनेंसी में सेक्स करने से शिशु का जन्म भी आसानी से हो जाता है ऐसा भी लोग मानते हैं।

इसे भी पढे – Gora hone ke gharelu upay

प्रेगनेंसी में सेक्स करने के नुकसान

वैसे तो इससे किसी भी तरह का कोई नुकसान नहीं होता है। फिर भी कुछ ऐसी बातें हैं जो आपको पता होनी चाहिए। गर्भावस्था के समय सेक्स करने से आपके पेट में दर्द या ऐठन जेसी स्थिति महसूस हो सकती है।

गर्भावस्था मे संभोग से हो सकता हे स्क्तस्त्राव

कई बार सेक्स करने से रक्तस्त्राव चालू हो जाता है जो काफी समय तक नहीं रुकता। प्रेगनेंसी में सेक्स करने से आपको अपने स्तनों के निप्पल में दर्द का आभास हो सकता है

यदि आपको हमारा यह लेख पसंद आता है तो हमें कमेंट करके जरूर बताइए और अपने दोस्तों के साथ भी इसे शेयर करिए ताकि हम इस तरह की रोचक जानकारियां भविष्य में भी आपके लिए लाते रहे।

 धन्यवाद

अस्वीकरण

दी गई सभी जानकारी केवल पाठकों की जानकारी और ज्ञान के लिए दी गई है। हम क्षेत्र इकाई से अनुरोध करते हैं कि आप किसी भी सिफारिश / संकल्प का प्रयास करने से पहले अपने चिकित्सक से संपर्क करें। इस स्वास्थ्य से जुड़ी इस वेब साइट का उद्देश्य आपको अपने स्वास्थ्य से जुड़ा बनाना है और स्वास्थ्य से जुड़े आंकड़ों की आपूर्ति करना है। आपके डॉक्टर के पास आपके स्वास्थ्य के संबंध में उच्च डेटा है और उनकी सिफारिश का कोई विकल्प नहीं है।

Read also

Dayriya kya h karan lakshan gharelu upay

चावल खाने के फायदे और नुकसान

आलू खाने के फायदे और नुकसान

बुखार क्या होता है कारण,लक्षण और घरेलू उपचार

ganna khane ke fayde aur nuksan

संतरा खाने के फायदे और नुकसान

Piliya kya h karan lakshan aur upchar

Sinus kya h karan lakshan upchar

टमाटर खाने के फायदे और नुकसान

lakva kya hota h karan lakshan gharelu upay

Share post

Leave a Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *